हमारे परिवार में कई लोग अक्सर शिकायत करते है कि, घर के सदस्य जितना कमाते है, उससे कई ज्यादा खाते है। अच्छे पैसे कमाने के बावजूद उन्हें तंग जिंदगी गुजारनी पडती है। ऐसे में आज हम आप को एक ऐसा उपाय बताने जा रहे है, जिससे आपकी ये शिकायत दूर हो जाएगी। तो आइए इस के बारे में विस्तार से जानते है।

हमारे शास्त्रों के अनुसार घर में गेंहू के आटे से नकारात्मक ऊर्जा फैलती है। जरूरत पड़ने पर ही आटा बनाना चाहिए। जल्दी आटा बनाने से आपकी सेहत पर भी असर पड़ता है।

आटे में मिलाएं ये 3 चीजें, मां लक्ष्मी रहेगी प्रसन्न

ज्यादातर महिलाएं समय बचाने के लिए सुबह के समय सुबह का आटा और शाम को रोटी बनाती हैं। आटे की रोटी खाने से कई तरह की नकारात्मक ऊर्जा आपके घर में प्रवेश करती है। शाम के समय इस रोटी के सेवन से कई तरह की अनिष्ट शक्तियां भी हमारे शरीर में प्रवेश करती हैं।

सनातन धर्म में शास्त्र कहता है कि ऐसा कदापि नहीं करना चाहिए। ऐसा करना बहुत ही अशुभ माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार जब बंधा हुआ आटा ज्यादा देर तक टिका रहता है तो वह एक गांठ का रूप ले लेता है। बंधा हुआ आटा गोल नहीं रखना चाहिए।

वहीं आटे को बांधने के बाद अपनी उंगलियों को आटे में अंकित कर लेना चाहिए। गोल आटा गांठ का रूप धारण कर लेता है और उसमें नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश कर जाती है। इस प्रकार के आटे का उपयोग रोटी बनाने के लिए किया जाता है और नकारात्मक ऊर्जा आपके शरीर में प्रवेश करती है।

ऐसे में दिन भर बनी हुई आटे की रोटी बनाना बहुत अशुभ माना जाता है। इससे मां लक्ष्मी नाराज होती हैं। ऐसा करने से आपके घर में दुख, दरिद्रता और दरिद्रता आती है। शास्त्रों के अनुसार एक बात का ध्यान रखें कि बढ़ा हुआ आटा कभी भी फ्रिज में नहीं रखना चाहिए। ज्यादातर महिलाएं बढ़ा हुआ आटा फ्रिज में रखती हैं। ऐसा करना बहुत ही अशुभ माना जाता है।

आप को जानकारी के अनुसार बता दें कि शास्त्रो के अनुसार आटा बनाने के लिए हम पानी का उपयोग करते है। लेकिन उसकी जगह हमें एक चम्मच दूध मिलाना चाहिए। ऐसा करने पर मां अन्नपूर्णा देवी खुश हो जाती है।

वहीं रोटी बनाते समय आप को ध्यान रखना चाहिए की पहली रोटी गाय को और आखिरी रोटी कुत्ते को दी जाएं। ऐसा करने से माता-पिता प्रसन्न रहते है। सुबह की रोटी के चार टुकडे कर लें और एक गाय का, दूसरा कुत्ते का, तीसरा कौवे का और चौथा टुकडा चौराहे पर रखना चाहिए।

अगर आप के घर में सुख-शांति की कमी है और बार बार कलेश होते रहता है तो सुबह की पहली रोटी गाय को और आखिरी रोटी कुत्ते को खिलाएं। ऐसा करने पर आपके घर में हो रही कलेश बंध हो जाएगी, वहीं आपकी खोई हुई खुशियां वापस आ जाएगी और आपके घर में फिर से सुख शांति लौटेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *