सलमान खान (Salman Khan) 27 दिसंबर को अपना जन्मदिन मना रह हैं। सलमान खान जब छोटे तो ऐसे ही एक बार उन्होंने अपने पिता की सैलरी जला दी थी। तब परिवार को आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

बॉलीवुड के दबंग खान कहे जाने वाले सलमान खान 27 दिसंबर को अपना जन्मदिन मना रह हैं। 3 भाइयों में सबसे बड़े सलमान अपने परिवार के बेहद करीब हैं। वो अपने माता-पिता के साथ ही रहते हैं। इंडस्ट्री में ऐसा कहा जाता है कि सलमान जिसकी मदद करते हैं दिल खोलकर करते हैं। वहीं उनका गुस्सा भी जगजाहिर है। ऐसे ही एक बार सलमान खान ने अपने पिता सलीम खान की पूरी सैलरी जला दी थी। बाद में सलीम खान ने उनको सबक भी सिखाया।

दिवाली के दिन जला दी थी सैलरी
सलमान का जन्म मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। काम के सिलसिले में उनके पिता मुंबई शिफ्ट हुए। मुंबई पहुंचने पर शुरुआत में सलीम खान को आर्थिक दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। Khantastic- The Untold Story of Bollywood’s Trio नाम के किताब में सलमान के बारे में एक रोचक किस्से का जिक्र है जब उन्होंने अपने पिता की पूरी सैलरी जला दी थी। जब सलीम खान इंदौर से मुंबई पहुंचे तब सलमान 6 साल के थे। दिवाली के दिन उनसे ये गलती हुई थी।

पिता ने दी थी सीख
दोपहर का वक्त था तो सलमान बाल्टी में कुछ जला रहे थे। सलमान खोज रहे थे कि कुछ पेपर या कुछ कागज मिले जिसे वह जला सकें। उन्होंने देखा कि उनके पिता ने कुछ पेपर एक जगह डाल रखे हैं। उन्होंने वह लिया और जला दिया। बाद में पता चला कि उन्होंने 750 रुपये जला दिए थे। इस बात पर उनकी मां ने डांट लगाई थी। सैलरी जल जाने की वजह से महीने के खर्च में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। जब पूरी सैलरी आग में जल गई तो सलीम खान गुस्सा भी हुए। उन्होंने उस वक्त अपने बच्चों को पैसे के महत्व के बारे में बताया। पिता की सिखाई वह बात सलमान कभी नहीं भूले।

मदद करने में आगे रहते हैं सलमान
यह तो सभी को मालूम है कि सलमान खान बॉलीवुड के सबसे अमीर अभिनेताओं में से हैं। वह अपनी आय का बड़ा हिस्सा लोगों की मदद में खर्च करते हैं। सलमान बीइंग ह्यूमन नाम से एक संस्था चलाते हैं जिससे देश भर में हजारों लोगों की मदद की जाती है। कोरोना काल में जब लोगों के पास काम नहीं था उस वक्त सलमान आगे आए और करीब 25 हजार दिहाड़ी कामगारों को मदद पहुंचाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *