स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पिछले कुछ महीनों में भारतीय टी20 टीम की नियमित कप्तानी करने के सबसे बड़े दावेदार के तौर पर उभरे हैं। उन्होंने अपने नेतृ्त्व कौशल का बखूबी लोहा मनवाया है।

भारत के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने जब से पीठ की चोट से उबरने के बाद वापसी की है, वह अलग ही अंदाज में अपनी छाप छोड़ रहे हैं। उनके नए तेवर बल्लेबाजी-गेंदबाजी के अलावा कप्तानी में भी नजर आ रहे हैं। हार्दिक ने अपने नेतृत्व कौशन का जबरदस्त लोहा मनवाया है। उन्होंने ना सिर्फ गुजरात टाइटंस को पहली बार में आईपीएल चैंपियन बनाया बल्कि टीम इंडिया के कार्यवाहक कप्तान के तौर पर भी प्रभावित किया। नियमित कप्तान रोहित शर्मा के ब्रेक पर या फिर चोटिल होने के कारण हार्दिक ने अब तक आठ टी20 मैचों में भारत की कमान संभाली है, जिसमें से 6 में जीत और 1 में हार मिली। एक मैच टाइ हो गया।

हार्दिक की कप्तानी में भारत ने हाल ही में श्रीलंका के विरुद्ध तीन मैचों की टी20 सीरीज 2-1 से अपने नाम की है। सीरीज समाप्त होने के बाद उनके नेतृत्व कौशल की जमकर सराहना हो रही है। अनेक फैंस और क्रिकेट विशेषज्ञों का कहना है कि अब समय आ गया है कि भारतीय टी20 टीम की बागडोर हार्दिक जैसे खिलाड़ी को सौंपी जाए। इस कड़ी में नया नाम भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर अजय जडेजा का भी जुड़ गया है। जडेजा ने कहा है कि रोहित को खुद ही पांड्या को कप्तानी सौंप देनी चाहिए जैसे एमएस धोनी ने विराट कोहली कप्तानी दी थी।

जडेजा ने क्रिकबज पर बाचतीच के दौरान कहा, ”फिलहाल हमारे पास रोहित शर्मा हैं, जो टीम को लीड कर रहे हैं। रोहित के रिकॉर्ड से पता चलता है कि वह सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं। हालांकि, कभी कोई किंग इंतजार नहीं करता। सभी किंग को अपनी जगह हासिल पड़ती है। इंतजार का मतलब होता है कि किंग के पास अधिकार है, वह जिसे चाहे गद्दी सौंपे। जैसे एमएस धोनी ने विराट कोहली को कमान दी, वैसे ही होना चाहिए। यह बोर्ड या चयनकर्ताओं ने नहीं किया। धोनी ने विराट को चुना और कहा कि मुझे लगता है कि आपको इसे (कप्तानी) संभालना चाहिए। मुझे लगता है कि अब भी ऐसा ही होना चाहिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *