देश में ठंड का प्रकोप दिन व दिन बढ़ता ही जा रहा है. इस सर्द मौसम की वजह से खांसी, जुकाम, बुखार, गले में खराश, गले में खराश और इंफेक्शन जैसी कई समस्याएं सामने आ जाती हैं। अगर इस मौसम में शरीर का तापमान गिर जाए तो कई तरह की परेशानियां पैदा हो जाती हैं। ठंड से बचने के लिए आपको गर्म कपड़े पहनने होंगे। लेकिन यह ठंड पुरुषों से ज्यादा महिलाओं को प्रभावित करती है। महिलाओं को ज्यादा ठंड लगती है।

डॉक्टर्स के मुताबिक.. पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा ठंड लगती है। पुरुषों को भले ही वही मौसम सामान्य लगता हो, लेकिन महिलाओं को बहुत ठंड लगती है। इसका कारण महिलाओं की आंतरिक संरचना और शारीरिक बनावट है। इस वजह से महिलाओं को ज्यादा ठंड लगती है।

मेडिकल एक्सपर्ट्स के मुताबिक पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा ठंड क्यों लगती है इसका कारण उनका मेटाबॉलिज्म है। मेटाबॉलिज्म शरीर में ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने का काम करता है। जब शरीर में भरपूर ऊर्जा होती है.. तो शरीर को जल्दी ठंडा होने का मौका ही नहीं मिलता। यह शरीर में भी बहुत सक्रिय होता है। हालांकि, शोधकर्ताओं ने पाया है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मेटाबॉलिज्म कम होता है। इसलिए पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा ठंड लगती है।

जीवन शैली

महिलाओं की मांसपेशियां कम होती हैं

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, पुरुषों की तुलना में महिलाओं की मांसपेशियां कम होती हैं। इससे महिलाओं को ठंड भी अधिक लगती है। मांसपेशियां वास्तव में हमारे शरीर को गर्म रखती हैं। महिलाओं में ये मांसपेशियां कमजोर होती हैं और ठंड के कारण ये जल्दी कांपने लगती हैं। अन्यथा कमरे का तापमान आमतौर पर 20-22 डिग्री सेल्सियस होता है। लेकिन महिलाएं केवल 25 डिग्री सेल्सियस पर ही सहज महसूस करती हैं।

ऐसे में तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए

अगर आपको सर्दियों में बहुत ज्यादा सनबर्न हो जाता है, हर समय कंपकंपी होती है, हर समय ठंडक महसूस होती है, तो इसे सामान्य शारीरिक समस्या न समझें। ऐसी समस्या होने पर तुरंत अस्पताल जाना बेहतर होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि यह शरीर में और भी कई बीमारियों का संकेत हो सकता है। ऐसी चीजों के लिए समय पर हेल्थ चेकअप जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *